Wednesday, September 7, 2011

रुखसार

उसके रुखसार को तबीअत से सहला रहे हो
अब काजल मेरी ही आंख का चुरा रहे