Friday, September 23, 2011

जो बोया है

जो बोया है अब वही तो काटने आयें हैं हम
खुदा ने यही कहा ले वही, तिलमिला नहीं |

_______हर्ष महाजन