Saturday, September 24, 2011

हलफनामाँ

मुझ संग दुशमनी का जूनून उसे वफ़ा होने से पहेले था
मेरे हसीं ख़्वाबों का पैकर वो खफा होने से पहले था
भूल गया है वो सब कुछ वफाओं के तौर तरीके 'हर्ष'
ये सभी बातों का हलफनामाँ जुदा होने से पहले था |

____________हर्ष महाजन