Thursday, September 8, 2011

तवायफों की तरह

बड़ी अजीब है ये दुनिया तवायफों की तरह
हमेशां चाहने वाले बदलती रहती है |

जिंदगी तुझे कब तक बचा के रखेगी
मौत तो रोज़ निवाले बदलती रहती है |

_____हर्ष महाजन