Friday, September 23, 2011

तिलिस्म

उनके इस तिलिस्म का अब क्या करें
चाँद से मुखड़े पर हमेशां हिज़ाब करते हैं |

_________हर्ष महाजन