Wednesday, October 12, 2011

यकीनन आसमां से उनपे उतरेगा कहर एक दिन

यकीनन आसमां से उनपे उतरेगा कहर एक दिन
बदला करते हैं मुसलसल जो सय्याद बे-सबब |

सय्याद = शिकारी

_______________हर्ष Mahajan