Tuesday, February 28, 2012

अंदाज़-ए-बयाँ से उनके दिल कायल हुआ जाता है

अंदाज़-ए-बयाँ से उनके दिल कायल हुआ जाता है
कुछ शाम ढली जाती है समाँ घायल हुआ जाता है ।

____________________हर्ष महाजन