Friday, April 20, 2012

बड़ी ही अजीब है ये दुनिया तवायफों की तरह



बड़ी ही अजीब है ये दुनिया तवायफों की तरह
वफायें बदलती रहती है वो इंतज़ार-ए-यार में ।

__________________हर्ष महाजन