Tuesday, April 17, 2012

उनकी मोहब्बत में हम इक उम्र से जुल्फें संवारते रहे हैं 'हर्ष'

उनकी मोहब्बत में हम इक उम्र से जुल्फें संवारते रहे हैं 'हर्ष'
मगर कितना अरसा वो आवाज़ देंगे ''बर्तन कलई करा लो" ।

___________________________हर्ष महाजन ।