Friday, April 20, 2012

तुम हंस रहे हो मुझे यूँ बे-हाल देख कर

तुम हंस रहे हो मुझे यूँ बे-हाल देख कर
मगर मैं मसरूफ हूँ इतेज़ार-ए-यार में ।

_____________हर्ष महाजन