Tuesday, May 1, 2012

ज़ख्मों की टीस लिए जीये जा रहा हूँ मैं

..

ज़ख्मों की टीस लिए जीये जा रहा हूँ मैं
ख्याल बहक न जाएँ पीये जा रहा हूँ मैं ।

_______________हर्ष महाजन