Wednesday, May 16, 2012

इस तूफ़ान को अब इस तरह न छेड़ा कीजिये

..

इस तूफ़ान को अब इस तरह न छेड़ा कीजिये
शोला बदन हूँ ये सवाल अब टेड़ा न कीजिये ।

____________________हर्ष महाज