Friday, June 1, 2012

माना गिद्ध आसमाँ में ऊंचे उड़ने का श्रम रखते हैं

..

माना गिद्ध आसमाँ में ऊंचे उड़ने का श्रम रखते हैं
हम भी वो शय हैं साहित्य बदलने का दम रखते हैं ।

क्यूँ कर सुनाऊँ मैं अपने साहित्यिक सफ़र की गाथा
वक़्त जब मांगे तो कहने पर यकदम कदम रखते हैं ।

________________हर्ष महाजन ।