Thursday, June 21, 2012

मुझको अच्छा नहीं लगता ज़माने वालो

..

मुझको अच्छा नहीं लगता ज़माने वालो
अब जहां से मुझे ले जाओ उठाने वालो ।

मेरी हसरत के ज़नाज़े को न पूछे कोई
इतने बे-दर्द कहाँ हो ज़हर पिलाने वालो ।

मेरे दिल में कभी झाँक कर देखा तो करो
कितना ज़ख़्मी है ओरों को हसानें वालो ।

ये जहां अपना नहीं सब हैं मतलब के यहाँ
कुछ तो बता कौन हो लौट के आने वालो ।

इल्तजा मेरी खुदा से तुम्हे नींदें मुबारक
दर्द-ए-जुदाई का मुझे दे के जगाने वालो ।

_______________हर्ष महाजन