Monday, June 25, 2012

गला दर्द हो तो बस यही अंजाम होता है

गला दर्द हो तो बस यही अंजाम होता है
खुद आंसुओं में ओर घर में जाम होता है ।

हमें तो मालूम है हकीकत,चलो तुम बताओ
सभी पूछेंगे जब हाल तभी बस नाम होता है ।

हंसो मत जियादा अपनी हकीकी पर इतना
खट्टा छोड़ देना नहीं तो गला बदनाम होता है ।

इतना कहने पर भी उट-पटांग अगर खाओगी
तो सच कहूं तो आपरेशन तक नाकाम होता है ।..:) :)

ये 'हर्ष' यार यारों का बड़ी अजीजी से मिलता है
दिल में रहो ऐसा नहीं तब मिलो जब काम होता है ।

__________________हर्ष महाजन ।