Monday, June 18, 2012

कल रात तस्वर तो किया ख्वाब का लेकिन

..

कल रात तस्वर तो किया ख्वाब का लेकिन
हो गए मेरे ख्वाब के टुकड़े विरानियाँ देखकर ।

मुझको न थी खबर वो नहीं आयेंगे इस तरह
अपने ख्वाब में मेरी तस्वीर के टुकड़े देखकर ।

________________हर्ष महाजन ।