Tuesday, November 6, 2012

चले भी आइये फिर से तसव्वुर में मेरे

...

चले भी आइये फिर से तसव्वुर में मेरे
मेरे दर्द-ए-दिल की तो बस यही दवा है |

______________हर्ष महाजन