Saturday, December 15, 2012

मेरी तहरीरें उनकी यादों से इस तरह सजी रहती हैं

...

मेरी तहरीरें उनकी यादों से इस तरह सजी रहती हैं ,
कि उनके फेंके पत्थर भी फूल सी नरमी रखते हैं |

_________________हर्ष महाजन |