Saturday, June 1, 2013

उसने वक़्त को बेअसर कर दिया कुछ इस तरह

....

उसने वक़्त को बेअसर कर दिया कुछ इस तरह,
रख पहलू में सर हर लिया दर्द कुछ जिस तरह |

बहुत रुलाया उसने मगर आज पलकें कुछ शांत हैं 
रखे लिए दामन में उसने अश्क मेरे कुछ इस तरह |

_________________हर्ष महाजन