Thursday, July 11, 2013

ज़िन्द में दौर-ए-ग़ज़ल मेरा उनसे खूब हुआ,

...

ज़िन्द में दौर-ए-ग़ज़ल मेरा उनसे खूब हुआ,
उन्ही के वास्ते लिखा उन्ही से मंसूब हुआ |

__________________हर्ष महाजन