Sunday, September 15, 2013

जिस जुल्मी दिल के आईने में हैं प्यार की मशाल


...

जिस जुल्मी दिल के आईने में हैं प्यार की मशाल,
तुम दिल को रखना काबू में फिर देख उसकी चाल |
जब-जब उठेगा रिश्तों पर... कोई ऐसा इक सवाल,
पल-भर में फिर तुम देखना उस रिश्ते का कमाल |

____________________हर्ष महाजन