Wednesday, October 16, 2013

मेरे दिल के दर्द मुझको खुद ही भूल गये

...

मेरे दिल के दर्द मुझको खुद ही भूल गये,
बला है क्या ये इश्क़ सारे मेरे असूल गये |
किताब-ए-इश्क़ में था पढ़ लिया जो अपना नाम,

अंजाम सोच के क़फन ले हम भी झूल गये |

_________________हर्ष महाजन |

....

Mere dil ke dard mujhko khud hi bhool gaye,
Balaa hai kya ye ishq saare mere asool gaye.
kitaab-e-ishq meiN tha padh liya jo apna naam,
anjaam soch ke qafan le ham bhi jhool gaye.

_____________________Harash Mahajan