Friday, October 25, 2013

किस तरह हुस्न वालों की ज़मीं को मैं बंजर कह दूं

...

किस तरह हुस्न वालों की ज़मीं को मैं बंजर कह दूं,
बहुत मेहनत की है इस पर प्रेम की फसल उगाने में ।

________________हर्ष महाजन