Monday, December 9, 2013

बे-वफ़ा तो है ……


क्षणिका


कितनी
असरदार है तू !
बे-वफ़ा तो है ……
पर दिल में,
अभी भी
बरकरार है तू !!

__हर्ष महाजन