Friday, January 3, 2014

मुझे इल्म था कि तुम यूँ ही छोड़ जाओगे मुझे तनहा



मुझे इल्म था कि तुम यूँ ही छोड़ जाओगे मुझे तनहा ,
मगर इक दीया जाने किसका जल रहा है दिल में मेरे । 


________________हर्ष महाजन