Friday, January 24, 2014

मेरी खामोशी के…..दीये भूल न जाना



मेरी खामोशी के…..दीये भूल न जाना,
कभी वक़्त मिले मेरे पास चले आना ।
कितने दर्द से...भर चुका है ये माहौल ,
बस आखिरी है दरख्वास्त चले आना ।

_________हर्ष महाजन