Friday, January 24, 2014

कोई शख्स मुझे भीड़ का इक हिस्सा बना गया



कोई शख्स मुझे भीड़ का इक हिस्सा बना गया,
टुकड़ा था कभी दिल का अब किस्सा बना गया ।

______________हर्ष महाजन