Saturday, April 12, 2014

शायरी का कलमकार से सिर्फ इतना सा वास्ता होता है

....

शायरी का कलमकार से सिर्फ इतना सा वास्ता होता है, 
कागज़ पर जब भी लिखता है फकत इक हादसा होता है ।


------------हर्ष महाजन