Saturday, April 12, 2014

खुदा का फज़ल है जो उसने दिलों की सरहदें बना डाली

...

खुदा का फज़ल है जो उसने दिलों की सरहदें बना डाली,
मगर उस  की मर्जी बिना कहाँ दखल इन्सां का होता है ।

________________हर्ष महाजन


...

Khuda ka fazal hai jo usne diloN kii sarhadeN bana daalii,
Magar Us ki marzi bina kahaN dakhal InsaaN ka hota hai.

_____________Harash Mahajan