Saturday, May 31, 2014

मैंने क्या जुर्म किया उसको मुझसे क्या गिला

...

मैंने क्या जुर्म किया, उसको मुझसे क्या गिला,
गर सजा मुझको मिली....वो बताएं क्या मिला ।
गर अदालत है कोई.....तो बता ज़ुल्म-ए-वफ़ा,
वरना इस जुर्म पे खुदा, उसको देगा क्या सिला ।

------------हर्ष महाजन