Thursday, May 15, 2014

मुद्दत से दबे पाँव 'पाँव' यूँ सफ़र करता रहा

...

मुद्दत से दबे पांव 'हर्ष' यूँ सफ़र करता रहा,
थी मोहब्बत बे-पनाह कहने से डरता रहा ।

-------------हर्ष महाजन