Monday, June 9, 2014

खुदाया तेरे जहाँ में ये हल नहीं मिलता

...

खुदाया तेरे जहाँ में.............ये हल नहीं मिलता,
जो पल गुज़र गया ज़िन्द से वो पल नहीं मिलता |
जो बेटे अश्क बहा कर के..........माँ को छलते हैं,
पर माँ के अश्कों में कोई....भी छल नहीं मिलता |

_____________हर्ष महाजन