Wednesday, August 13, 2014

यूँ तो अश्कों को मेरी आँख से जाना होगा



...

यूँ तो अश्कों को मेरी....आँख से जाना होगा,
इश्क गर कश्ती है समंदर में तो आना होगा |
जाने क्यूँ कहता है...पत्थर मुझे चाहने वाला,
मैं तो किस्मत ही कहूँ...उसको बताना होगा |
 

___________हर्ष महाजन