Tuesday, November 25, 2014

मेरा मर्कद न बनाना कभी मेरी मौत के बाद


मेरा मर्कद न बनाना कभी मेरी मौत के बाद,
मैंने हारी है मोहब्बत की ये अमानत ज़िंदगी |

...

Mera marqad na banana kabhi meri mout ke baad,
Maine haari hai mohabbat kii ye amaanat zindagii.


_______________Harash Mahajan


marqad = mazaar, madfan, Tomb