Sunday, November 30, 2014

है तडपना तो फितरत में शामिल है अब

...


है तडपना तो फितरत में शामिल है अब ,
जाने क्यूँ मुझ पे किस्मत अजमाता कोई |


...

Hai tadpana toh fitrat mein shaamil hai ab.
jaane kyuN mujh pe kismat aajmata koii.



______________हर्ष महाजन