Friday, December 19, 2014

इंतज़ार और अभी और अभी कुछ और अभी

...

इंतज़ार और अभी और अभी कुछ और अभी,
ज़रा मैं देख लूं तेरे दिल के हैं साहिल कितने |


...

Intezaar our abhi our abhi............kutch our abhi,
zara maiN dekh looN tere dil ke haiN saahil kitne.

______हर्ष महाजन