Tuesday, December 9, 2014

हमने अब तक न तवायफों का तबस्सुम देखा

...

हमने अब तक न तवायफों का तबस्सुम देखा,
ये सुना है कि सजा देती हैं महफ़िल रात-भर |


...

Hamne ab tak na tawayfoN ka tabassum dekha,
Ye suna hai ke saja deti haiN mehfil raat-bhar.

__________________हर्ष महाजन