Wednesday, December 24, 2014

निगाहों के मिलने से दिल मिल जाएँ ये ज़रूरी तो नहीं

...

निगाहों के मिलने से दिल मिल जाएँ ये ज़रूरी तो नहीं,
मगर बे-वज़ह ये इत्तफाक बार-बार होता है आजकल |
...

Nigahon ke milne se dil mil jaayeiN ye zaruri to nahiN
Magar be-wazeh ye ittefaq baar-baar hota hai aajkal.


--------------Harash Mahajan