Tuesday, March 3, 2015

यूँ ही मेरी चाहत को.....वफ़ा का नाम क्यूँ दे रहे हो 'हर्ष',

...

यूँ ही मेरी चाहत को.....वफ़ा का नाम क्यूँ दे रहे हो 'हर्ष',
इज्ज़त के नाम पर बस ये जान ही तो लुटाई है तेरे लिए |

__________हर्ष महाजन