Thursday, April 2, 2015

क्यूँ दिया करते हो दस्तक मेरे खुश्क ज़ख्मों पर

...

क्यूँ दिया करते हो दस्तक मेरे खुश्क ज़ख्मों पर,
अब लगाके नमक मेरा ज़मीर जगाया करता हो |

______________हर्ष महाजन