Monday, May 18, 2015

काश तुम साथ होते तो यकीनन


...
काश दिल में तेरे उल्फत के ज़खीरे होते,
तुम यकीनन मेरे....हाथों में लकीरें होते |
___________हर्ष महाजन