Wednesday, June 3, 2015

जाने उल्फत में कई लोग सज़ा देते हैं



...

जाने उल्फत में कई लोग सज़ा देते हैं,
जाम-ए-इंसा पे बवालों का मजा लेते हैं |
मर्ज़-ए-दिल उनका मुहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं,
वो दवा धूप की, जुल्फों से घटा देते हैं | 


_____________हर्ष महाजन