Tuesday, August 25, 2015

ऎ खुदा हो सके तो इक बार उनसे मिलने की बारी रखना

....

ऎ खुदा हो सके तो इक बार उनसे मिलने की बारी रखना,
वरना अकेली हूँ अपनी अदालत में मेरी भी तैयारी रखना ।

-------------------–-हर्ष महाजन