Monday, January 4, 2016

मुझसे मेरी मेहरबानियों का कभी जिकर न करना

...
मुझसे मेरी मेहरबानियों का कभी जिकर न करना,
तनहा हूँ, मेरी इस आदत का कभी फिकर न करना |
________________हर्ष महाजन