Monday, January 11, 2016

कितने ही एहसान किये हैं तुमने मुझपर ऐ तन्हाई

...

कितने ही एहसान किये हैं तुमने मुझपर ऐ तन्हाई,
बेवफाई सहते...... ज़िन्दगी गुज़ार दी मैंने तेरे संग |

_________हर्ष महाजन