Sunday, March 20, 2016

दुनियाँ है बदली बदली अब मैं भी बदल गया

मेरी अगली ग़ज़ल का मुखड़ा ::

दुनियाँ है बदली-बदली अब मैं भी बदल गया,
जो दिल था हर इंसान में.....जाने किधर गया ।

-----------------हर्ष महाजन


2212 2212 2212 12