Saturday, February 1, 2014

तूने तो शायद रिश्ते का रुख ही मोड़ दिया,



तूने तो शायद रिश्ते का रुख ही मोड़ दिया,
टुकड़े-टुकड़े कर दिल फिर उसे मरोड़ दिया । 
बे-वफाई की तुझे लगा महारत हासिल है ,
प्यार हमसे,पर दिल कहीं ओऱ जोड़ दिया ।

_____________हर्ष महाजन