Tuesday, September 22, 2015

ऐ ज़िंदगी सलाम तुझे....क्या किया सितम

...


ऐ ज़िंदगी सलाम तुझे....क्या किया सितम.
इक पल में दे गयी तू मुझे अतीत और गम |
लखते जिगर को छीन तुम्हें क्या सकूं मिला,
कुछ तो बता कसूर मेरा.......या बता करम |


________हर्ष महाजन