Thursday, April 17, 2014

कितना मुश्किल था मेरे दिल की.....दरारों से यूँ चले आना 'हर्ष'

.....

कितना मुश्किल था मेरे दिल की
.....दरारों से यूँ चले आना  'हर्ष',
मगर क्या कहूँ कितना हुनर रखते हो तुम दिल में उतर जाने का ।


Bada mushqil tha mere dil ki dararoN se yuN chale aana 'Harsh'
Magar kya kahu kitna hunar rakhte ho tum dil me utar jaane ka.

__________________Harash Mahajan