Sunday, December 2, 2012

उसने आज मेरी गिरेबान पे हाथ डाल दिया

...

उसने आज मेरी गिरेबान पे हाथ डाल दिया,
जो दिल में था बे-धडक उसने निकाल दिया |
बहुत ज़र्ब लगा दिल के किसी कोने में मुझे,
मुद्दत से ठंडा था क्षण में उसने उबाल दिया |

_______________हर्ष महाजन